किडनी रोग से बचने के टिप्स

0

किडनीशरीर में सभी अंगों का अपना विशेष काम होता है। जिसे वे सुचारू रूप से करते हुए शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। इनमें किडनी यानि गुर्दा अहम है, जो शरीर को अंदर से साफ करते हैं और खून को फिल्टर करने का काम करता है। किडनी का शरीर के सभी फंक्शन करने वाले हिस्सों में अहम रोल है, क्योंकि अगर किडनी ठीक नहीं वर्क कर रहा है, तो समझिये की शरीर कई बीमारियों को बुला रहा है।

किडनी की बीमारियां एवं किडनी फेल्योर पूरे विश्व एवं भारत में खतरनाक तेजी से बढ़ रहा है। भारत में प्रत्येक 10 में से एक इंसान को किसी ना किसी रूप में क्रोनिक किडनी की बीमारी होने की संभावना होती है। हर साल करीब 1,50,000 लोग किडनी फेल्योर की अंतिम अवस्था के साथ नये मरीज बनकर आते हैं। इसलिए यह जानना बेहद जरूरी है कि, किडनी का ख्याल कैसे रखें जिससे की हम किडनी सहित पूरे शरीर को स्वस्थ रखने में कामयाब हो सकें।

तरल पदार्थ

शरीर से हानिकारक चीजें बाहर निकालने के लिए किडनी को तरल माध्यम की आवश्यकता होती है। दिन में कम से कम डेढ़ से दो लीटर पानी पीना जरूरी होता है। और अगर शारीरिक रूप से एक्टिव हों तों इससे भी ज्यादा पानी पीने की जरूरत होती है। साथ ही अन्य तरल चीजें जैसे ज्यूस आदि का पीते रहना चाहिए।

नियंत्रित आहार

नियंत्रित आहार से खराब किडनी को भी ठीक किया जा सकता है। और स्वस्थ किडनी को खराब होने से बचाया जा सकता है। हमें मसालेदार चीजों को कम से कम खाने की कोशिश करनी चाहिए। साथ ही रेगुलर नींबू, आलू का रस और हमेशा शुद्ध जल का अधिक से अधिक सेवन करना चाहिए, जिससे कि हमारी किडनी को कोई नुकसान न पहुंचे।

ब्लड शुगर पर नियंत्रण

मधुमेहखून में ग्लूकोज का स्तर बढ़ जाने से डायबिटीज जैसी बीमारियों का खतरा तो बढ़ता ही है, इससे किडनी की आंतरिक नलिकाएं भी नष्ट हो सकती हैं। अगर इन नलिकाओं को नुकसान पहुंच जाता है तो वो रक्त को ठीक से फिल्टर नहीं कर पातीं। इसलिए किडनी के लिए ब्लड शुगर का स्तर नियंत्रण जरूरी है।

नशे से बचें

शरीर में रक्त वाहिकाओं को नष्ट करने में धूम्रपान का बड़ा हाथ होता है। इसकी वजह से खून अच्छे से फिल्टर नहीं हो पाता है। इसलिए अगर आप सिगरेट या कोई अन्य तरह का नशा करते हैं तो इसे फ़ौरन छोड़ दें।

पेनकिलर न खाएं

लंबे समय तक दर्द कम होने वाली दवाईयां लेने से भी किडनी पर बुरा असर पड़ता है। अगर किसी के गुर्दे पहले से ही थोड़े कमजोर हों, तो उन्हें पेनकिलर दवाओं से काफी खतरा हो सकता है। इसलिए किडनी की बीमारियों से दूर रहने के लिए पेनकिलर से दूर रहें और डॉक्टरों की सलाह से ही पेनकिलर लें।

स्वस्थ आहार

वैसे तो सही खानपान कई बीमारियों का इलाज है। फल, सब्जियां और फाइबर वाली चीजें खाने से वजन के साथ किडनी की सेहत भी अच्छी रहती है। अगर किडनी की बात हो तो खाने में नमक की मात्रा कम से कम रखनी चाहिए। साथ ही फल, नींबू, आंवला, अजवाइन आदि का अधिक से अधिक सेवन करना चाहिए।

सालाना जांच

Insulinहर व्यक्ति और खास तौर पर 60 साल से बड़ी उम्र के लोगों में या मोटापे, डायबिटीज, उच्च रक्तचाप और परिवार में किडनी फेल होने की वंशानुगत बीमारी होने पर नियमित जांच करनी चाहिए।

एक्टिव रहें

कहा जाता है कि व्यक्ति के एक्टिव रहने से उसके कई रोग मिट जाते हैं। क्योंकि जब आप रोजमर्रा के जीवन में सक्रिय रहते हैं, तो ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है। जिससे कई बीमारियां आपसे दूर रहती है।

सोडा एवं शराब से बचें

अगर आप ज्यादा मात्रा में कोल्ड ड्रिंक्स या शराब पीते हैं तो यह आदत न केवल मूत्र के लिए बल्कि पूरे शरीर के लिए ही हानिकारक है। कई शोध बताते हैं कि शराब या सोड़ा आदि के अधिक सेवन से मूत्र संबंधी समस्याएं भी होती हैं। इससे शरीर का प्रोटीन आपके मूत्र के द्वारा बाहर निकल जाता है, जिससे किडनी उस समय सही से काम नहीं कर पाती और और उसे भारी नुकसान पहुंचा है। इसलिए सोडा शराब का सेवन करने से बचें।

पेशाब न रोकें

पेशाब को रोक कर रखना किडनी के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। इस बुरी आदत की वजह से किडनी में स्टोन बनने की आशंका बढ़ जाती है। ऐसे में किडनी को बहुत नुक्सान पहुंचता हैं और समस्या के गंभीर रूप लेने पर किडनी फेल भी हो सकती है। इसलिए जब भी पेशाब आये तो इसे कभी भी ज्यादा देर तक रोकें नहीं।

पर्याप्त नींद लें

अगर हम पूरी नींद नहीं लेते हैं या सही से नहीं सोते हैं, तो इस किर्या में भी बाधा आती है और किडनी पर दबाव बढ़ जाता है। जब हम सोते हैं तो हमारी किडनी के उतकों का नवनिर्माण होता हैं। इसलिए हमें पूरी और अच्छी नींद की बेहद ज़रूरत होती हैं।

ज्यादा न खाएं नमक या मीठा

कुछ लोगों को बहुत ज्यादा नमक खाने की आदत होती है जिसका सीधा असर किडनी पर पड़ता है। शरीर में सोडियम की मात्रा अधिक होने पर ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है, जिसकी वजह से किडनी पर ज्यादा जोर पड़ता है और समस्याएं होने लगती हैं। इसके अलावा अधिक मिठाई का सेवन करने से भी यूरिन से प्रोटीन निकलने लगता है, जिससे किडनी खराब होने लगती हैं।

और अगर आपको मेडिसिन्स चाहिए तो, मेडलाइफ़ से आर्डर कीजिये।

Medlife Medicine Delivery Offer Code

Leave a Reply